ads

Credit Card क्या है इसके फायदे और नुकसान

Credit Card Kya hai





आजकल आप लोगों ने बहुत सुना होगा क्रेडिट कार्ड के बारे में कंपनियां क्रेडिट कार्ड प्रोवाइड कर रही हैं जैसे कि डेबिट कार्ड प्रोवाइड करती थी और साथ में काफी तेजी से क्रेडिट कार्ड की डिमांड भी बढ़ रही है और लोगों को इसके फायदे भी समझ आ रहे हैं तो credit card काफी तेजी से बढ़ रहा है सभी बैंक  क्रेडिट कार्ड प्रोवाइड कर रही हैं क्रेडिट कार्ड  एक तरह से स्मार्ट लोन होता है जो कि बैंक प्रोवाइड करती हैं उसमें एक कार्ड दी जाती है और एक लिमिट तय कर दी जाती है बैंक के द्वारा कि आप इतने तक का फंड यूज कर सकते हैं क्रेडिट कार्ड  का फंड जरूरत पड़ने पर अक्सर शॉपिंग के लिए यूज़ की जाती है और ज्यादातर इसी के लिए बेनिफिट भी होती है और इसमें शॉपिंग करते हैं तो कंपनियां कुछ रीवार्ड प्वाइंट भी देती है इसकी बहुत सारे फायदे भी होते हैं और बहुत सारे नुकसान भी होते हैं क्योंकि अगर देखा जाए कोई भी चीज यदि उसके फायदे हैं तो उसके कुछ न कुछ नुकसान भी होते हैं तो वैसे देखा जाए तो यह काफी अच्छे होते हैं इसका सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो बहुत अच्छा होता है कई बार इंटरनेशनल वेबसाइट में पेमेंट करते टाइम या शॉपिंग करते टाइम क्रेडिट कार्ड के बारे में पूछा जाता है तो अभी तक हमने जाना कि क्रेडिट कार्ड क्या होता है किसका शॉपिंग के लिए यूज होता है इसके फायदे क्या है और नुकसान क्या है यह दोनों जानना बहुत जरूरी होता है।

Credit Card Ka minimum payment due date ko payment na Karne par-


 क्रेडिट कार्ड  मैं पेमेंट का यूज करने के बाद 45 से 50 दिन का समय मिलता है उसका पेमेंट भरने के लिए उसकी टाइम लिमिट रहती है कौन सी बैंक का किस डेट पर बिल आएगा और किस डेट को लास्ट पेमेंट करना रहता है यदि किसी बस किसी मंथ यदि आप पेमेंट नहीं भर पाते हैं तो क्या होता है असल पर बैंक काफी ज्यादा चार्जेस लेती है बैंक का जो इंटरेस्ट रहता है वह लेती है और उसके अलावा पेनाल्टी भी लगाती है कुछ अमाउंट का वह बैंक के ऊपर रहता है अलग-अलग बैंकों का अलग-अलग होता है और जो मिनिमम पेमेंट होता है Due date को अगर आप उसे भी पेमेंट नहीं करते हैं तो आपके सिविल स्कोर में भी फर्क पड़ता है इसलिए पहली बात तो अब उतना ही शॉपिंग करनी चाहिए जितना बिल भर सकते हैं और हम ओन्ली ड्यू अमाउंट जो रहता है उसको ही भरे पूरा Bharna चाहिए ताकि बैंक का ज्यादा इंटरेस्ट जो रहता है वह न लगे और साथ में पेनाल्टी भी ना लगे और साथ मे आपके क्रेडिट यानी कि सिविल स्कोर में फर्क ना पड़े इसलिए उतना यूज़ करिए जितना आप Bhar सकते हैं Bank pure amount par jada interest Leti Hai.

Credit Card  के फायदे


1.  यदि आपके पास क्रेडिट कार्ड है तो आप शॉपिंग कर सकते हैं आपके बैंक अकाउंट में पैसे हैं या नहीं जितने आपकी क्रेडिट कार्ड की लिमिट है उतने तक कि आप शॉपिंग कर सकते हैं।

2. यदि आपके पास क्रेडिट कार्ड है तो उससे शॉपिंग करने के बाद आपको reward point  और कैशबैक मिलता है उस रिवॉर्ड पॉइंट का उपयोग करके दोबारा शॉपिंग कर सकते हैं जितने रीवार्ड प्वाइंट की वैल्यू रहती है।

3. क्रेडिट कार्ड के माध्यम से धोखाधड़ी फ्रॉड होने की संभावना कम तो नहीं होती लेकिन एक हद तक काफी रियायत मिल जाती है जैसे कि यदि आपके पास फीड कार्ड था और आपके साथ फ्रॉड हुआ और आपने टाइम पर बैंक को सूचित किया तो उनके नियमानुसार कुछ हद तक बैंकों द्वारा सपोर्ट किया जाता है और इसके साथ में फायदा यह होता है कि यदि आपकी क्रेडिट कार्ड की लिमिट 50,000 थी तो भी फ्रॉड होता है तो आपका 50000 अमाउंट का ही खतरा रहता है यदि आपके बैंक अकाउंट में मान लीजिए एक करोड़ था वहां पर ज्यादा खतरा था पूरा अमाउंट धोखाधड़ी के साथ ले सकते थे वहीं यदि आप क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं तो वहां पर लिमिटेड अमाउंट आपके बैंक द्वारा दी जाती है जितना  उसमें अमाउंट रहेगा उतने तक रह सकता है।

4. यदि आप क्रेडिट कार्ड के द्वारा शॉपिंग करते हैं किसी भी ऑनलाइन वेबसाइट से जैसे कि अमेजॉन फ्लिपकार्ट तो उसने आपको कुछ परसेंटेज का डिस्काउंट मिलता है और साथ में EMI ऑप्शन मिलता है किसी किसी बैंक द्वारा FREE COST Of EMI Ka ऑप्शन दिया जाता है।

5. क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने से और समय पर भुगतान करने के सिविल इसको भी अच्छा बढ़ता है अच्छा सिविल रहने से किसी बैंक में लोन लेते हैं तो कम ब्याज दर पर लोन मिलता है।

6. कई सारे क्रेडिट कार्ड में एनुअल चार्ज नहीं लगता मतलब कि हर साल आपको इस कार्ड के लिए कोई फीस नहीं देनी पड़ती है।




Credit Card के नुकसान-


1. कई कार्ड में हिडन चार्ज और फीस होते हैं जिनका ज्यादातर लोगों को पता नहीं होता और बैंक ज्यादातर बताना नहीं चाहती जिससे क्रेडिट कार्ड होल्डर को फीस Hidden फीस देनी पड़ती है।

2.  यदि हम क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान निश्चित समय पर नहीं करते हैं यानी कि लेट पेमेंट करते हैं तो बैंक इस केस में काफी ज्यादा चार्जेस ऐड करके बिल सेंड करते हैं जो कि उसका ब्याज लगातार दिन-ब-दिन और बढ़ता जाता है।

3. यदि आप क्रेडिट कार्ड की लिमिट से ज्यादा शॉपिंग करते हैं तो बैंक उसमें ज्यादा चार्जेस ऐड करके बिल भेज देती है जैसे कि आप की लिमिट थी ₹100000 और आपने ₹100000 से ज्यादा की शॉपिंग कर लिए तो इसमें बैंक अतिरिक्त चार्ज ब्याज के सहित मिलाकर आपको भेज देगी।
4.यदि आप क्रेडिट कार्ड की लिमिट ज्यादा से ज्यादा यूज करते हैं तो आपके सिविल इसको पर काफी इफेक्ट पड़ता है जैसे कि आपकी क्रेडिट कार्ड की लिमिट ₹100000 है और आप ₹95000 आपने यूज कर लिया शॉपिंग कर लिया या इससे ज्यादा आप ने कर लिया तो समय आपका क्रेडिट स्कोर में काफी फर्क पड़ता है यानी कि जो सिविल स्कोर होता है।



तो आप लोगों ने इस पोस्ट में जाना क्रेडिट कार्ड के फायदे क्या होते हैं नुकसान क्या होते हैं यदि आप क्रेडिट कार्ड की जो लिमिट होती है आप शॉपिंग करते हैं और  समय पर उसका भुगतान करते हैं तो काफी अच्छा रहता है और आपका सिविल इसको काफी अच्छा बनता है यदि आप लेट पेमेंट करते हैं तो आपके लिए नुकसानदायक होता है क्योंकि पर्सनल लोन के ब्याज से ज्यादा होता है।

Post a Comment

0 Comments